News

गांधी – एक अनवरत यात्रा – छात्रों के लिये एक क्रिएटिव लर्निंग एक्सपिडिशन

श्रमण हाई के छात्रों और शिक्षकों ने मिलकर गांधी – एक अनवरत यात्रा पर प्रदर्शनी तैयार की थी. चार कक्षों में तैयार की गई इस प्रदर्शनी में गांधीजी के सामाजिक प्रभाव, निजी जीवन मूल्यों, स्वतंत्रता आंदोलन की यात्रा और ग्राम स्वराज विषयों पर छात्रों द्वारा थर्मोकोल मॉडल्स, रांगोली, पेटिंग्स और पोस्टर्स तैयार किये गये.

गांधीजी के सार्वजनिक जीवन प्रभावों में अस्पृश्यता उन्मूलन, महिला सशक्तिकरण, आत्मनिर्भरता इत्यादि विषयों को पोस्टर्स और फोटोग्राफ्स के जरिये दर्शाया गया था. इस कक्ष में गांधीजी के द्वारा लिखे गये महत्वपूर्ण पत्रों की प्रतियों को भी प्रदर्शित किया गया.

निजी जीवन मूल्यों को प्रदर्शित करने वाले कक्ष को गांधीजी के प्रार्थना कक्ष का स्वरूप प्रदान किया गया था. यहां गांधीजी की प्रिय प्रार्थनाओं के पोस्टर्स और उनके सिद्धांतों पर राईट-अप्स डिस्प्ले किये गये थे. सत्य, अहिंसा, प्रार्थना और स्वदेशी के जीवन मूल्यों को छात्रों ने दर्शकों को एक्सप्लेन किया.

स्वतंत्रता आंदोलन की यात्रा को बहुत खूबसूरत तरीके से लगभग चार सौ वर्ग फीट की एक रांगोली में दर्शाया गया. इसमें गांधीजी के द्वारा ४५ किये गये विभिन्न आंदोलनों को चित्र रूप में उनके फुट प्रिंट्स के साथ दर्शाया गया.

गांधीजी की ग्राम स्वराज की परिकल्पना को छात्रों ने आधुनिक परिप्रेक्ष्य में थर्मोकोल मॉडल्स के जरिये प्रदर्शित किया जिसमें पानी, रोजगार, खाद्यान्न उत्पादन, संचार, रिन्युएबल एनर्जी, शिक्षा इत्यादि के साथ प्रदर्शित किया. प्रेक्षकों के अनुसार यह प्रदर्शनी उनके लिये प्रेरणादायक रही और उन्होंने अपने गांव को इस मॉडल पर बनाने की बात कही.

सभी कक्षों में छात्रों ने प्रदर्शित मॉडल्स और पेंटिंग्स को सरल रूप में समझाया एवं हर विज़िटर को व्यक्तिगत रूप से इस यात्रा में एस्कॉर्ट किया. आने वाले पेरेंट्स और दर्शकों ने इस प्रदर्शनी को अभूतपूर्व कहा.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *